गरुड़ पुराण पुराण

गरूड़ पुराण – भूलकर ना करें यह 4 काम, ढल जाएगी उम्र!

गरूड़ पुराण के अनुसार भूलकर ना करें यह काम

यूं तो आपने कई पुराणों के बारे में पढ़ा होगा, लेकिन आज हम आपको गरुड़ पुराण से जुड़ी ऐसी बातें बताने जा रहा है जिसका आपके जीवन से बहुत गहरा संबंध माना जाता है। जी हां, यह सत्य है कि हमारा जीवन कोई स्थाई नहीं है, क्योंकि जिसने हमें जन्म दिया है वह हमारा जीवन कभी भी हमसे छिन सकता है। यह सत्य है कि जीवन और मृत्यु दोनों भगवान के हाथों में है।

हालांकि यह कोई नहीं बता सकता कि आपकी मृत्यु कब होगी… लेकिन हमारे धर्म ग्रंथों के अनुसार ऐसे कुछ काम हैं, जिन्हें करने से आपकी आयु कम होती है और आप धीरे-धीरे मौत की ओर बढ़ते चले जाते हैं।

आज वेद संसार आपको ऐसे गरुड़ पुराण में उल्लेख ऐसी ही कुछ चीज़ों के बारे में बताने जा रहा है जिसका इस्तेमाल कर आपकी उम्र ढल सकती है –

• दही

देखा जाए तो दही खाना स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी माना जाता है, लेकिन यही दही को अगर आप रात में खाते हैं तो आपकी उम्र जल्दी ही ढल जाएगी। दरअसल, गरुड़ पुराण के अनुसार रात के समय दही का सेवन करने से कई तरह की बीमारियां आपको अपना शिकार बना सकती है और इसी के साथ पेट में दही के ठीक से ना पच पाने के साइड इफेक्टस भी काफी हैं। आपके लिए अच्छा ही होगा कि आप रात में भूलकर भी दही का सेवन ना करें।

• मांस (मीट)

वहीं, दही के अलावा मांस खासकर के सूखा या बासी मांस को खाने से भी व्यक्ति की उम्र कम होती है। गरुड़ पुराण के अनुसार व वैज्ञानिक कारण से भी यह तथ्य सामने आया है कि जब मांस कुछ दिन पुराना हो जाता है, तो वह बुरी तरह से सूख जाता है और उस पर कई तरह के खतरनाक वायरस या यूं कहे कि बैक्टीरिया अपना घर बना लेती है और इसे खा लेने से आपको कई तरह के गंभीर रोग होने की संभावनाएं बनी रहती है, जिससे इंसान खुद अपने हाथों से अपनी आयु को कम करते चले जाता है।

• देर तक सोना

देर तक सोना

चौंका देने वाली बात यह है कि अगर आपकी आदत है सुबह काफी देर तक सोने की तो अपनी इस आदत को सुधार लें, क्योंकि यह बुरी आदत आपकी उम्र को कर देती है। गरुड़ पुराण के अनुसार जो भी इंसान सूर्योदय के बाद ज्यादा समय तक के लिए सोते रहता है, तो उनकी आयु अपने आप कम होती चली जाती है और ऐसा इसलिए है, क्योंकि पूरे दिन की तुलना में ब्रह्मा मुहूर्त में शुद्ध वायु ज्यादा मानी जाती है और यही कारण है कि सभी को इस ब्रह्मा मुहूर्त की वायु का सेवन ज़रूर करना चाहिए, क्योंकि इससे आपके शरीर के कई रोग ठीक हो सकते हैं और आपकी उम्र ढलने के बजाय बढ़ जाएगी।

• शमशान का धुआं

कहते हैं जब कोई व्यक्ति किसी शव के दाह संस्कार के धुएं के संर्पक में आता है, तो वायरस और बैक्टीरिया उनके शरीर से जाकर चिपक जाते हैं और कई तरह के रोग फैलाते हैं और इन्हीं गंभीर रोगों से मनुष्य की आयु कम होती चली जाती है।

Leave a Comment