Latest Articles

धार्मिक स्थल

हवा में झूलते मंदिर के पिलर्स का ये है रहस्य

आंध्र प्रदेश के एक छोटे से जिले अनंतपुर में स्थित है लेपाक्षी मंदिर, जो अपने हैंगिंग पिलर्स यानी कि हवा में झूलते हुए पिलर्स के लिए पूरी दुनिया में मशहूर है। बता दें कि इस दिव्य मंदिर के 70 से...

धार्मिक स्थल

एक बार दर्शन देने के बाद गायब हो जाता है यह मंदिर, जानें कैसे?

हमारे भारत में तीर्थ स्थानों का जैसे कि बद्रीनाथ, केदारनाथ और वैष्णो देवी के खूब चर्चे होते हैं। गौरतलब है कि यह धार्मिक स्थल पौराणिक काल से ही भारत में मौजूद है। वहीं, इन तीर्थ स्थानों के...

धार्मिक स्थल

शिव के परम भक्त रावण ने बनाई थी स्वर्ग तक जाने की सीढ़ी!

आपने रामायण में पढ़ा होगा और टीवी पर भी रावण की कहानी ज़रूर देखी होगी… रावण अपने आप में बहुत खास इंसान था। वह एक प्रकांड विद्वान् होने के साथ-साथ उच्च कोटि का ज्योतिषशास्त्री भी था। रावण...

धर्म ज्ञान

ब्रह्मा जी की पूजा क्यों नहीं होती?

ब्रह्मा, विष्णु और महेश को सारा संसार त्रिमूर्ति कहकर पुकारता है। जहां एक ओर ब्रह्माजी इस सृष्टि के रचनाकार माने जाते हैं ,तो दूसरी ओर विष्णुजी संसार के पालनहार। वहीं, महेश यानी कि भगवान...

धर्म ज्ञान

मां लक्ष्मी को करना है खुश तो शाम के समय ना करें यह 5 काम

जब भी धन की बात होती है, तो सबसे पहले हम मां लक्ष्मी को ही याद करते हैं… हर कोई चाहता है कि उसके जीवन में मां लक्ष्मी की कृपा हमेशा बनी रहे और कभी भी पैसे की कमी ना होने पाए। घर हो या फिर ऑफिस मां...

धर्म ज्ञान

रुद्राक्ष की कैसे करें पहचान… क्या है महत्तव?

आपने रुद्राक्ष का ज़िक्र तो सुना ही होगा… लोग इसे माला के रूप में जानते हैं और काफी पवित्रता के साथ इसे पूजते हैं। शास्त्रों की मानें तो जो भी भक्त रुद्राक्ष को धारण करता है, उनसे भगवान शिव...

रामायण

रावण के वध के बाद उसके शव के साथ क्या हुआ

रामायण में आपने पढ़ा होगा या फिर अपने घर के बड़े लोगों से सुना होगा कि किस तरह भगवान श्रीराम के हाथों और रावण को मृत्यु मिली थी। इस भिषण युद्ध में श्रीराम ने रावण का वध तो किया ही था, साथ ही लंका...

शिव पुराण

भगवान शिव को क्यों प्रिय है त्रिशूल, डमरू व नाग

जब भी आप भगवान शिव की मुर्ति या फिर उनकी छवि की कल्पना करते हैं, तो उनके साथ त्रिशूल, डमरू और नाग को भी ज़रूर से देखते होंगे। जहां भी शिव का ज़िक्र होगा वहां उनके यह प्रिय साथी त्रिशुल, डमरू और...

धर्म ज्ञान

आपकी संतान से पिछले जन्म का ये है कनेक्शन

हमारे भारत में पिछले जन्म को लेकर यूं तो कई कहानियां सुनने को मिलती रहती है। कुछ इन्हें सच मनाते हैं, तो कुछ इनको नकारते हैं। वहीं, हिन्दू धर्म में पूर्व जन्म और कर्मों की अहमियत बहुत मानी जाती...

पुराण

निराकार लिंग के रूप में क्यों पूजे जाते हैं भोलेनाथ

आदि और अंत के देवता कहलाने वाले भगवान शिव का ना तो कोई स्वरूप माना जाता है और ना ही आकार… उन्हें तो साक्षात निराकार ही मानते हैं। ऐसा मानना है कि आदि और अंत ना होने के कारण ही लिंग को भगवान शिव...