Latest Articles

ईवेंट हिन्दू पर्व

महाशिवरात्रि का महत्व और पूजा विधि

महाशिवरात्रि का त्योहार पूरे देश व विदेश में भगवान शिव के भक्तों द्वारा धूमधाम के साथ मनाया जाता है। यह बहुत ही महत्वपूर्ण दिन होता है और इस दिन श्रद्धालु भगवान शिव की अराधना करते हैं ताकि...

धर्म ग्रंथ रामायण

रावण के मुंह से कब, कहां और क्यों निकला – ‘शत्रु हो तो राम जैसा’

यूं तो हमारे हिंदू धर्म में बहुत से ग्रंथ लोकप्रिय हैं और उन्हीं ग्रंथों में से एक ग्रंथ है रामायण, जिसे पढने या फिर सुनने के बाद मन को एक अलग ही सूकून व शांति मिलती है। वहीं, रामायण में मौजूद कई...

ज्योतिष फेंगशुई टिप्स

फेंगशुई टिप्स: पैसों की कमी है तो घर लाए यह 4 चीज़ें!

घर में सुख-शांति पैसों के बदौलत ही तो बनी रहती है। खुद सोचकर देखिए अगर पैसा ना हो, तो आपके घर खुशियां दो पल भी नहीं टिक सकती है। जब तक आप अपनी व परिवार के सदस्य की खुशियां पूरी नहीं कर सकेंगे तब तक...

सपने का फल

सपने में लोहा देखने का क्या है मतलब?

सपने देखना कोई संयोग नहीं माना जाता है बल्कि यह हमारे भविष्य के संकेतों को भी साफ-साफ दर्शाता है। वहीं, हमारे स्वप्न शास्त्र के अनुसार सपने जितने भी देखे जाते हैं, उन सभी का कुछ न कुछ संकेत...

ईवेंट हिन्दू पर्व

माघी पूर्णिमा का महत्व और पूजा विधि

हमारे हिन्दू पंचांग के मुताबिक माघ माह में पड़ने वाली पूर्णिमा तिथि को ही माघी पूर्णिमा कहा जाता है। क्या आप जानते हैं कि धार्मिक और आध्यात्मिक दृष्टि से माघ पूर्णिमा का एक विशेष महत्व है।...

ईवेंट हिन्दू पर्व

अत्तुकल पोंगल महोत्सव क्या है, जानें पूजा विधि

अत्तुकल पोंगल महोत्सव भारत के केरल राज्य में काफी धूमधाम के साथ मनाया जाता है। इस खास उत्सव को लोग अत्तुकल पोंगल महोत्सव भरनि, मकाराम कुम्भ, मलयालम महीने के दिन (कर्थिका स्टार) में मनाते हैं...

ज्योतिष सपने का फल

सपने में किसी को थप्पड़ मारना या खुद मार खाने का क्या है अर्थ

दरअसल, किसी के प्रति इतना क्रोथित हो जाते हैं कि वह हमारे सपने में भी दिखने लग जाता है और जो इच्छाएं हम खुली आंखों में पूरी नहीं कर पाते, वह हम बंद आंखों से अपने सपने के ज़रिए पूरी करने की कोशिश...

हस्तरेखा

हथेली पर है अगर ऐसी 5 रेखाएं तो हो जाए सावधान!

क्या आप कभी आश्चर्य में पड़े हैं कि आखीर कैसे कोई बस आपकी हथेली को देखता है और अच्छे-बुरे कल की बातें, आना वाला समय आदि सब बता देता हैं??? दरअसल, हमारी दोनों हथेली पर शुभ और अशुभ दोनों तरह के निशान...

ईवेंट हिन्दू पर्व

गौरी तृतीया तिथि का क्या हैं महत्व… जानें संतान और पति के सुख के राज़

मां गौरी की तृतीया तिथि हमारे देश में काफी लोकप्रिय व्रत है। इस खास दिन को तीज की तरह मनाया जाता है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन व्रत करने से अच्छे पति और संतान की प्राप्ति होती है। गौरी तृतीया...

ईवेंट हिन्दू पर्व

दयानंद सरस्वती जयंती पर जानें उनकी अनमोल बातें

दयानंद सरस्वती वह शख्स थे, जिन्होंने धार्मिक आडम्बरों के खिलाफ अपनी आवाज उठाई थी और आर्य समाज के संस्थापक भी बनें थे। बता दें कि स्वामी दयानंद सरस्वती ने 1875 ई. में आर्य समाज की स्थापना की थी