रत्न - Gemstone

जो आप रत्न पहनते हैं वह पहुंचा सकती है आपको नुकसान, जाने कैसे

जो आप रत्न पहनते हैं वह पहुंचा सकती है आपको नुकसान

आप इस बात से सहमत होंगे की रत्नों का प्रभाव हमारी ज़िंदगी में बहुत होता है। जिस प्रकार किसी भी मनुष्य के जीवन में रंग और तरंग का महत्व सर्वाधिक होता है ठीक उसी तरह रत्न भी इन्ही रंगों और तरंगों के माध्यम से हमारे जीवन पर प्रभाव डालते हैं।

बता दें कि हर व्यक्ति के शरीर के सात चक्र इन्ही रंगों और तरंगों को ग्रहण करते हैं। ऐसी मान्यता है कि रत्नों के प्रयोग से व्यक्ति की मानसिक स्थिति में तुरंत बदलाव हो जाता है और इसके बाद धीरे-धीरे शरीर पर असर पड़ना शुरू हो जाता है। जान लें कि मन और शरीर के बाद रत्न हमारे दैनिक कार्य पर भी असर डालते हैं। ध्यान रहे कि रत्नों का लाभ थोड़ी देर में ज़रूर होता है परन्तु उसका नुकसान तुरंत हो जाता है।

आज वेद संसार आपको बताने जा रहा है कि विभिन्न रत्नों के नुकसान से आप कैसे बच सकते हैं 

माणिक्य: सूर्य का रत्न

• इस खास रत्न का प्रयोग सूर्य से सम्बंधित समस्याओं के निवारण के लिए प्रयोग किया जाता है।

• वहीं, कन्या,तुला,मकर और कुम्भ लग्न वालों को भूलकर भी माणिक्य नहीं पहनना चाहिए।

• जान लें कि अगर माणिक्य आपको नुकसान करता है तो आपको हमेशा सरदर्द और हड्डियों में दर्द की शिकायत बनी रहेगी।

मोती: चन्द्रमा का रत्न

मोती: चन्द्रमा का रत्न

• बता दें कि मन और शीतजन्य समस्याओं के निवारण में यह रत्न बहुत अदभुत काम करता है।

• यह रत्न वृष,मिथुन,कन्या और मकर लग्न वाले लोगों को भयंकर परिणाम दे सकता है।

• जान लें कि मोती अगर नुकसान करने लगे तो आपकी मानसिक स्थितियां बिगड़ने लग जाएगी।

मूंगा: मंगल का रत्न

• इस बात से तो आप सभी अवगत होंगे कि ज्योतिष में लाल और नारंगी रंग के मूंगे का प्रयोग ज्यादा होता है।

• मिथुन,कन्या और तुला लग्न वालों को मूंगा छूना भी बहुत खतरनाक माना जाता है।

• वहीं, जो लोग स्वभावतः क्रोधी हों उन्हें तो गलती से भी लाल मूंगा नहीं पहनना चाहिए।

• कहते हैं कि मूंगा नुकसान करने लगे तो दुर्घटना और रक्त की समस्या बढ़ा जाती है।

पन्ना: बुध का रत्न

पन्ना: बुध का रत्न

• रत्न पन्ना आपके दिमाग और साथ ही मन को मजबूत करने का काम बखूबी करता है।

• ध्यान रखें कि मेष, कर्क और वृश्चिक लग्न वाले लोगों के लिए पन्ना बहुत खतरनाक परिणाम हो सकता हैं।

• वहीं, पन्ना धारण करने से अगर आपकी त्वचा में समस्याएं दिखने लगे तो इसे जल्दी से उतार दें।

• ऐसी मान्यता है कि पन्ना नुकसान करने लग जाए तो इंसान की बुद्धि भ्रष्ट होने लग जाती है।

पीला पुखराज: बृहस्पति का रत्न

• यह खास रत्न आपकी आध्यात्मिक शक्ति, वाणी और धर्म तथा ज्ञान में वृद्धि करने का काम करता है।

• वृष, तुला, मकर और कुम्भ लग्न के लोगों को इसको धारण करने से बचना चाहिए, क्योंकि यह रत्न उनके लिए घातक साबित हो सकता है।

• यही नहीं, जिन लोगों को पेट की समस्याएं आए दिन बनी रहती है उन्हें पुखराज नहीं पहनना चाहिए।

• कहते हैं कि मोटापे की प्रवृत्ति वाले लोगों को भी पुखराज धारण करने से बचने में ही भलाई है।

हीरा: शुक्र का रत्न

हीरा: शुक्र का रत्न

• यह रत्न प्रेम, सौंदर्य, चमक और सम्पन्नता का रत्न माना जाता है।

• वहीं, अगर जरा भी नुकसान करें तो वैवाहिक जीवन में उथल पुथल तेज़ी से ला सकता है।

• वृष, मिथुन, कन्या, तुला, मकर और कुम्भ लग्न वाले लोगों के लिए यह बहुत शुभ रत्न माना जाता है।

• वहीं, मेष, कर्क, सिंह, वृश्चिक और मीन लग्न वाले लोगों के लिए यह बहुत खतरनाक साबित होता है।

• ध्यान रहे कि चंचल मन वालों को हीरा धारण करने से अवश्य बचना चाहिए।

• आप चाहे तो हीरे की जगह सफ़ेद अमेरिकन डायमंड पहन सकते हैं।

नीलम: शनि का रत्न

• इस रत्न को बिना जांच के कभी नहीं पहनना चाहिए।

• ध्यान रखें कि नीलम अगर जरा भी नुकसान करने लगे तो व्यक्ति को जीवन का संकट तक आ जाता है।

• इस खास रत्न को कुंडली के गंभीर अध्ययन के बाद ही धारण करने की सलाह दी जा सकती है।

• सिंह लग्न में भूलकर भी नीलम धारण नहीं करना चाहिए।

गोमेद: राहु का रत्न

• यह राहु का रत्न माना जाता है।

• वहीं, सामान्य दशाओं में इसको धारण नहीं करना चाहिए।

• कहते हैं कि अगर आपका व्यवसाय या स्वभाव इसके अनुकूल हो तो इसको अवश्य पहनिए अन्यथा ना पहनें क्योंकि नुकसान करने पर यह स्वास्थ्य और जीवन में उतार चढ़ाव पैदा कर देता है।

लहसुनिया: केतु का रत्न

• यह खास रत्न केतु का रत्न कहलाता है।

• अगर आपकी कुंडली में केतु अनुकूल है तो इसें ज़रूर से धारण करें।

• वहीं, इसका नुकसान आपको चर्म रोग या स्नायु तंत्र की समस्याओं से घेर सकता है।

Leave a Comment