ज्योतिष हस्तरेखा

हथेली पर मौजूद कौन सी रेखाएं आपको बनाती है भाग्यहीन!

हथेली पर मौजूद कौन सी रेखाएं आपको बनाती है भाग्यहीन

ऐसे बहुत से इंसान होते हैं, जो थोड़े ही प्रयास में हर काम में सफलता को हासिल कर लेते हैं, वहीं दूसरी ओर ऐसे भी लोग हैं, जो लाख कोशिश करने क बाद भी असफल ही रह जाते हैं। हमारे समुद्रशास्त्र में इसका कारण बताया गया है… हस्तरेखा शास्त्र की मानें तो हमारे हथेली पर कुछ निशान शुभ होते है, तो कुछ निशान अशुभ। शुभ निशान होने पर व्यक्ति भाग्यशाली और धनवान बन जाता है, तो दूसरी ओर हथेली पर अशुभ निशान होने पर व्यक्ति का जीवन परेशानी और कंगाली में बीतता है।

आज वेद संसार आपको बताने जा रहा है हथेली पर बनने वाले ऐसे ही कुछ अशुभ निशानों के बारे में – 

• भाग्यरेखा अगर कटी हुई हो तो

क्या आप जानते हैं कि हथेली पर भाग्यरेखा होना बहुत मायने रखता है। बता दें कि अच्छी भाग्यरेखा बनने से व्यक्ति भाग्यशाली होता है, जिससे उसके जीवन में धन-संपदा की कमी कभी नहीं होती है। वहीं, अगर किसी व्यक्ति की भाग्यरेखा कमजोर हो, टूटी-फूटी या अन्य कोई रेखा उसको काटते हुए जाए, तो ऐसा व्यक्ति भाग्यहीन कहलाता है और उसे पूरे जीवन तंगी का सामना करना पड़ता है।

• सूर्य रेखा का मौजूद ना होना

दूसरी ओर हस्तरेखा ज्योतिष के अनुसार सूर्य रेखा से व्यक्ति के मान-सम्मान में वृद्धि होती है। अगर किसी व्यक्ति की हथेली में सूर्य रेखा ही मौजूद ना हो, तो व्यक्ति को उचित मान-सम्मान प्राप्त नहीं हो पाता है। यही नहीं, मेहनत करने के बावजूद भी उसे सफलता नहीं मिल पाती है। यही सब कारणों से व्यक्ति का कंगाली पीछा नहीं छोड़ती।

• पर्वत में उभार का ना होना 

याद रखें कि हथेली पर अगर सभी पर्वतों में किसी भी प्रकार का कोई उभार ना हो, तो भी व्यक्ति बहुत भाग्यहीन कहलाता है।

• जरूरत से ज्यादा क्रास का निशान होना

जरूरत से ज्यादा क्रास का निशान होना

आपने बहुत से लोगों की हथेली में काफी ज्यादा क्रॉस के निशान देखें होंगे… कुछ लोगों की हथेली बिल्कुल भी स्पष्ट और साफ नहीं होती है, तो कुछ लोगों की हथेली में जरूरत से ज्यादा क्रॉस के निशान बने हुए होते हैं। ध्यान रहें कि जरूरत से ज्यादा क्रॉस के निशान होने से व्यक्ति की आर्थिक स्थिति कभी सही नहीं रहती है।

दोस्तों एक बात याद रखें कि अगर आप सिर्फ अपने हथेली पर निशान के भरोसे रहेंगे, तो सफलता कभी आपको हाथ नहीं लगेगी। इंसान की मेहनत भी हाथों की लकीरों को झूठला सकती है। कड़ी मेहनत और लगन से इंसान क्या कुछ हासिल नहीं कर सकता है, बस सच्चे मन से हर काम को करने की चाह होनी चाहिए।

हम यह नहीं कह रहें कि हाथों में मौजूद रेखाएं झूठी होती हैं… हमारे कहना का तात्पर्य यह है कि हाथ की लकीरें भी असरदार होती हैं, लेकिन मेहनत उससे कई गुणा ज्यादा होता है। यह कहावत तो याद ही होगा – मेहनत कर पर फल की चिंता ना कर।

किसी ने सही कहा है कि – “कभी अपनी हथेली पर बनें भाग्य की लकीरों पर गुरुर ना कर, क्योंकि भाग्य उनके भी होते हैं जिनके हाथ नहीं होते हैं…” 

Leave a Comment