हिन्दू पर्व

मार्गशीर्ष महीना क्यों है खास, जानें किन बातों का ध्यान रखना होगा उचित

मार्गशीर्ष महीना क्यों है खास, जानें किन बातों का ध्यान रखना होगा उचित

क्या आपने कभी इस खास महीने यानि कि मार्गशीर्ष महीने के बारे में सुना है? आज वेद संसार आपको मार्गशीर्ष महीने के बारे में बताने जा रहा है और इस महीने में किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए इसका भी ज़िक्र विस्तार से करेगा।

मार्गशीर्ष महीना किसे कहते हैं –

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह महीना हिन्दू पंचांग का नौवां महीना माना जाता है और इसे अग्रहायण या फिर अगहन का महीना भी कहकर पुकारा जाता हैं। वहीं, हिन्दू शास्त्रों में भी इस खास महीने को सबसे ज्यादा पवित्र महीना माना जाता है। दिलचस्प बात यह है कि यह महीना इतना पवित्र है कि भगवत गीता में भी इसका उल्लेख है कि – “महीनों में, मैं मार्गशीर्ष हूं…” जान लें कि इसी महीने से सतयुग का आरम्भ भी माना जाता है।

मार्गशीर्ष महीने में हुई थी खूबसूरत कश्मीर की रचना –

कश्यप नामक एक प्रख्यात ऋषि ने इसी महीने में कश्मीर की रचना की थी और इस महीने को जप, तप और साथ ही ध्यान के लिए सर्वोत्तम माना जाता है और यही नहीं, इस शुभ महीने में पवित्र नदियों में स्नान करना भी विशेष फलदायी माना जाता है। बता दें कि इस साल मार्गशीर्ष का महीना 24 नवंबर, 2018 से 22 दिसंबर, 2018 तक रहेगा।

मार्गशीर्ष महीने होने वाले यह खास 5 लाभ 

• मार्गशीर्ष के महीने में मंगलकार्य विशेष फलदायी मानी जाती हैं।

• वहीं, इस महीने में भगवान श्रीकृष्ण की उपासना और पवित्र नदियों में स्नान करना भी  बहुत शुभ माना जाता है।

• साथ ही इस महीने में संतान के लिए वरदान बहुत सरलता से मिलती है।

• यही नहीं, चन्द्रमा से भी आप अमृत तत्व की प्राप्ति कर सकते हैं।

• ध्यान रहें कि इस महीने में कीर्तन करने का भी फल अमोघ होता है।

मार्गशीर्ष के महीने में रखें इन 5 बातों का ध्यान –

• याद से इस महीने में आप तेल की मालिश ज़रूर करें क्योंकि यह बहुत उत्तम होता है।

• इस शुभ व पवित्र महीने से स्निग्ध चीज़ों का सेवन भी ज़रूर आरम्भ कर देना चाहिए।

• भूलकर भी इस महीने में जीरे का सेवन ना करें।

• जान लें कि इस महीने से मोटे वस्त्रों का उपयोग शुरू कर देना चाहिए।

• इस महीने से संध्याकाल की उपासना भी आपको अवश्य करनी चाहिए।

मार्गशीर्ष महीने में किस्मत चमकाने के खास 5 टिप्स –

• मार्गशीर्ष महीने में रोजाना भगवत गीता का पाठ ज़रूर करें।

• वहीं, जहां तक संभव हो भगवान श्री कृष्ण की उपासना भी आप करें।

• साथ ही तुलसी के पत्तों का भोग लगाएं और उसे प्रसाद की तरह ग्रहण किया करें।

• इस पूरे महीने “ॐ नमो भगवते वासुदेवाय” का जाप करना ना भूलें।

• यही नहीं, अगर इस महीने किसी पवित्र नदी में नहाने का मौका आपको मिले तो ज़रूर करें और पुण्य कमाएं।

दोस्तों हम आशा करते हैं कि हमारे द्वारा बताए गए इस खास मार्गशीर्ष महीने के बारे में व उससे जुड़े लाभ और अपने किस्मत को चमकाने के टिप्स जानकर आपको काफी खुशी हुई होगी। मार्गशीर्ष के इस शुभ महीने की आप सबको वेद संसार की पूरी टीम की ओर से हार्दिक शुभकामनाएं!

Leave a Comment