हिन्दू पर्व

अगहन पूर्णिमा क्या है… जानें कैसे मिलेगा धन लाभ!

अगहन पूर्णिमा क्या है जानें कैसे मिलेगा धन लाभ

हर साल अगहन की शनि पूर्णिमा आती है और इस खास दिन पूर्णिमा का चांद वृषभ राशि में रहता है, जिसे श्री दत्तात्रेय जयंती के नाम से लोग जानते हैं। बता दें कि अगहन पूर्णिमा पर ब्रह्मा, विष्णु और महेश के अंशावतार भगवान श्री दत्तात्रेय की पूजा होती है। यह बहुत शुभ योग माना जाता है, जिसमें आपकी दौलत बढ़ जाती है, फिर चाहे आप सोना, चांदी, जमीन, मकान या शेयर की खरीदारी करते हैं या फिर कोई नए व्यापार की शुरुआत करते हैं।

अगहन पूर्णिमा के दिन पूजा के उपाय

अगहन पूर्णिमा के दिन त्रिदेव को चढ़ाकर आप काले धागे को गले में पहन लें और साथ ही आप भगवान विष्णु और शिवलिंग पर केला सहित काले तिल और दूध को चढ़ाएं व साथ ही जल से अभिषेक भी करें।

अगहन पूर्णिमा पर शनि देव की पूजा का महत्व –

ध्यान रहे कि अगहन पूर्णिमा के शुभ दिन शनि देव पर बर्फी, तेल और तिल ज़रूर चढ़ाएं। हो सके तो बेलपत्र की माला भी चढ़ाएं और गुलाब का फूल भी। अगर आप किसी से प्रेम करते हैं और उससे शादी करना चाहते हैं, तो यह अगहन पूर्णिमा बहुत शुभ माना जाता है। इस दिन लव मैरिज की बात अवश्य से करें आपकी मनोकामना पूरी होगी और ज़िंदगी में खुशियां दोनों बांहें खोले आपके पास आएगी।

अगहन पूर्णिमा करे दिन करें यह काम, सफलता ज़रूर मिलेगी –

अगहन पूर्णिमा करे दिन करें यह काम, सफलता ज़रूर मिलेगी –

• अगर आप गुलाब जल डालकर नहाएंगे तो आपके हाथ सफलता जरूर लगेगी।

• एक गुलाब की माला बनाकर भगवान विष्णु और शिव को चढ़ा दें, सफल अवश्य होंगे।

• वहीं, पीपल के पत्ते पर अपने दोस्त का नाम लिखकर दें, सफलता आपका कदम चूमेगी।

• अगहन पूर्णिमा पर अपने प्रेम विवाह की बात की शुरुआत कर सकते हैं आप क्योंकि अगर आपका प्यार सच्चा है तो सफलता मिल सकती है।

• अगहन पूर्णिमा के दिन शनि देव की पूजा से आपको नौकरी और व्यापार में सफलता ज़रूर मिलेगी। यही नहीं, सैलरी या मुनाफा भी दोगुना हो जाएगा।

अगहन पूर्णिमा के दिन जाप करें यह खास मंत्र –

• “ॐ नमो शिवाय” का करें जाप

• “ॐ  शनिश्चराय नमः” का करें जाप

बताए गए मंत्रों के जाप के साथ भगवान शिव और शनि देव को तिल की रेवड़ी चढ़ाएं व दोनों को नारियल चढ़ाकर तिजोरी में रखें। ऐसी मान्यता है कि अगहन पूर्णिमा के शुभ दिन गाड़ी, मकान, जमीन, सोना व चांदी खरीदने पर दोगुना लाभ की प्राप्ति होती है।

इस बात का खास ध्यान रखें कि कुछ भी खरीदारी करने से पहले भगवान शिव और शनि की पूजा करना ना भूलें और गुड़, चावल और दूध की खीर बनाकर आप भगवान शिव और शनि को पहले चढ़ाएं और सभी में यह प्रसाद बांटे।

दोस्तों हम आशा करते हैं कि वेद संसार द्वारा बतायी गई अगहन पूर्णिमा का महत्व आपको समझ में आया होगा और आप आने वाले इस खास दिन बताए गए उपायों को अपनाएंगे और अपने जीवन में खुशहाली लाएंगे। आपके पास अच्छा मौका है अपना भगवान शिव, विष्णु व शनि देव को खुश करने का और अपनी मनचाही मनोकामनाओं को पूरा करने का।

Leave a Comment