धार्मिक स्थल

झारखण्ड के इस खास मंदिर से हैं कैप्टन कूल धोनी का गहरा संबंध

भारतीय क्रिकेट के शानदार खिलाड़ी और एक्स कैप्टन जो “कैप्टन कूल” के नाम से भी जाने जाते हैं महेंद्र सिंह धोनी… झारखण्ड की आन, बान और शान हैं। जब जब धोनी का नाम आता है झारखण्ड का नाम व रांची का नाम भी अवश्य से आता है। अगर आप रांची के रहने वाले हैं और बाहर विदेश जाते हैं, तो वहां किसी को रांची बोलेंगे तब वहां के लोग यही कहते नज़र आएंगे कि – “धोनी की जगह से या यूं कहे कि धोनी के राज्य से…”

यूं तो आपने देश के कई प्रसिद्ध मन्दिरों के बारे में पढ़ा या सुना होगा अपने बड़े बुजुर्गों से, जिन्हें देखने और आशीर्वाद लेने हर साल लाखों की तादाद में भक्त और श्रद्धालु बड़ी संख्या में पहुंचते हैं। वहीं, ऐसा ही एक राज्य है झारखण्ड… जहां के प्राचीन मन्दिरों की खूबसूरती को देख और मनोकामनाओं को पूरा होते देख आप भी आश्चर्य में पड़ जाएंगे। यही नहीं, झारखंड में एक ऐसा खास मंदिर मौजूद हैं, जहां कैप्टन कूल “धोनी” के भी सिर झूकते हैं। जी हां, धोनी अपने किमती समय से वक्त चुराकर वह इस मंदिर के दर्शन करने ज़रूर आते हैं।

ऐसी मान्यता है कि इस मंदिर में आने वाले लोगों की मनोकामनाएं ज़रूर पूरी होती है और तो और कोई भी भक्त जो यहां सच्चे मन से आता है वह कभी खाली हाथ नहीं जाता है। जॉब से लेकर परिवार को कोई दुख या दर्द हो, संतान से जुड़ी बातें हो या फिर विवाह को लेकर किसी भी तरह की समस्या हो… सभी का समाधान आपको इस मंदिर के दर्शन करने से निकल जाएगा।

आप खुद यह बात सोच सकते हैं कि भला क्या है इस खास मंदिर में ऐसा कि धोनी जैसे महान खिलाड़ी दूर विदेश में रहकर भी साल में एक बार तो ज़रूर से इस खास मंदिर के दर्शन करने ज़रूर से आते हैं।

आज वेद संसार आपको बताने जा रहा है कि आखिर वह खास मंदिर कौन सी है जहां “कैप्टन कूल” धोनी के भी झूकते हैं सिर –

दिउड़ी मंदिर

हम जिस खास मंदिर की बात कर रहे  हैंं वह झारखंड के रांची जिले तामार में स्थित है और इस मंदिर का नाम है – दिउड़ी मंदिर, जो उस क्षेत्र के सबसे पुराने मंदिरों में से एक मानी जाती है और देवी दुर्गा को समर्पित है। इस खास मंदिर में देवी दुर्गा की मूर्ति के अलावा भगवान शिव की भी मूर्ति स्थापित है।

आपको बता दें कि इस खास मंदिर में भारत के महान खिलाड़ियों में से एक और एक्स कैप्टन जो कि कैप्टन कूल के नाम से भी जाने जाते हैं धोनी जब भी अपने घर झारखण्ड में आते हैं तो वह इस खास दिउड़ी मंदिर में अपना माथा टेकने ज़रूर पहुंचते हैं।

इस बार जब आपकी छुट्टियां हो तो झारखण्ड के इस मंदिर के दर्शन करें और इनकी विशेषताएं और संरचनात्मक गठन के बारे में खुलकर और विस्तार से जानें।

Leave a Comment