ईवेंट राशिफल

विश्वकर्मा पूजा 2020: अपनी राशि अनुसार करें उपाय और पाएं आशीर्वाद!

साल 2020 में विश्वकर्मा पूजा 16 सितंबर को मनाया जाएगा। विश्वकर्मा पूजा हर साल आश्विन माह की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि के दिन ही मनाया जाता है। वहीं, हमारी धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इसी दिन भगवान विश्वकर्मा का जन्म भी हुआ था। मान्यता यह भी है कि इस दिन राशि के अनुसार भगवान विश्वकर्मा की पूजा करने से सबको शुभ फल की प्राप्ति अवश्य होती है।

विश्वकर्मा की पूजा खासकर के हर कारोबारी करता है, क्योंकि इससे आपके कारोबार में वृद्धि होती है। वह लोग जो धन-धान्य और सुख-समृद्धि की अभिलाषा रखा करते हैं, उन्हें ज़रूर से भगवान विश्वकर्मा की पूजा करना चाहिए, क्योंकि यह बहुत मंगलदायी होता है।

कारोबारी के साथ-साथ विश्वकर्मा पूजा हर कलाकार, शिल्पकार और व्यापारी के लिए भी बहुत अहम माना जाता हैं।

आपको विश्वकर्मा पूजा की विधि और महत्व के बारे में कई लोगों ने बताए होंगे पर आज वेद संसार आपको बताने जा रहा है कि कैसे आप अपनी राशि के अनुसार भगवान विश्वकर्मा की पूजा कर सकते हैं और उनसे आशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं –

• मेष – 

अगर आपकी राशि मेष है तो आप विश्वकर्मा पूजा के दिन को और शुभकारी बना के लिए याद से केसरिया रंग का कपड़ा ही पहनें।

• वृष –

वहीं, वृष राशि वाले लोगों को विश्वकर्मा पूजा के दिन पूजा करते समय यह सुनिश्चित कर लें कि भगवान विश्वकर्मा के जप पाठ के बाद श्री कुबेर जी की 11 माला जप ज़रूर से करें।

• मिथुन –

विश्वकर्मा पूजा के दिन आप जब कलश स्थापना के लिए जो रंगोली बनाएं तब उसमें याद से हरे रंग का इस्तेमाल ज्यादा करें। और हां, भगवान गणपति के शतनाम के पाठ के बाद ही विश्वकर्मा भगवान की पूजा कराएं।

• कर्क – 

कर्क राशि वाले लोगों के लिए कल्याणकारी परिणाम प्रदान करने वाला साबित होगा यह विश्वकर्मा पूजा। इसलिए भगवान शिव का आशीर्वाद विश्वकर्मा पूजन में प्राप्त करने के लिए आप गरीबों में सफेद अन्न का वितरण ज़रूर करें।

• सिंह – 

यही नहीं, सिंह राशि वाले लोग ध्यान रखें कि विश्वकर्मा पूजा के दिन स्नान करने के बाद भगवान सूर्य को जल ज़रूर दें। सूर्य को चढ़ाने वाले जल में रोली, लाल फूल, व गुड़ डालना गलती से भी ना भूलें।

• कन्या –

और तो और विश्वकर्मा पूजा के कलश के जल में रोली, लाल फूल और साथ ही गुड़ डालना ना भूलें।

• तुला – 

तुला राशि के लोगों को भगवान विश्वकर्मा के 108 नामों का स्मरण करना चाहिए और नीले रंग का ही वस्त्र धारण करना चाहिए।

• वृश्चिक – 

इस राशि वाले लोगों को विश्वकर्मा पूजा के समय कलश स्थापना लाल रंग की रंगोली पर ही करना चाहिए और साबुत लाल मसूर गाय को खिलाएं।

• धनु –

भगवान विश्वकर्मा की पूजा का विशेष लाभ पाने के लिए इस राशि वाले लोगों को श्री गणेश, महादेव व गौरी को वस्त्र अर्पित करना चाहिए।

• मकर – 

मकर राशि वाले लोगों को पूरे विधि विधान के साथ विश्वकर्मा भगवान की पूजा करनी चाहिए। साथ ही साथ यह भी ध्यान रखें कि पवित्र गायत्री मंत्र के सभी उपकरण की शुद्धि हो जाये।

• कुंभ – 

आपको पारिजात के फूल को भगवान विश्वकर्मा को ज़रूर करना चाहिए। ऐसी मान्यता है कि इस प्रयोग से सभी नकारात्मक शक्तियां समाप्त हो जाएंगी।

• मीन – 

बताते चलें कि मीन राशि वाले लोगों को विश्वकर्मा पूजा साधना-आराधना तो करना ही चाहिए व साथ ही आपको भगवान विश्वकर्मा के साथ-साथ श्री नारायण का आशीर्वाद अवश्य प्राप्त करें।

Leave a Comment