ईवेंट

2 जुलाई 2019 सूर्यग्रहण: भूलकर भी ना करें यह 4 काम

जैसा कि आप जानते हैं कि साल 2019 का दूसरा और खास सूर्यग्रहण 2 जुलाई को लगने जा रहा है, जबकि 17 जुलाई को चंद्रग्रहण लगेगा। यूं तो 2 जुलाई को लगने जा रहा सूर्य ग्रहण भारत में नजर नहीं आने वाला है वहीं चंद्र ग्रहण भारत के साथ कई देशों में नज़र आ सकता है। बबता दें कि सूर्य का प्रकाश जब चंद्रमा की वजह से पृथ्वी तक नहीं पहुंच पाता है तो उसे ही सूर्यग्रहण कहा जाता है।

सूर्यग्रहण का सही समय –

ऐसा माना जा रहा है कि यह ग्रहण राहु के नक्षत्र आद्रा और मिथुन राशि में लगेगा। हालांकि ग्रहण का आरंभ रात्रि भारतीय समय के अनुसार 10:25 मिनट पर आरंभ होगा और खग्रास का आरंभ रात्रि 11:32 मिनट पर, ग्रहण का मध्य अर्थात परम ग्रास रात्रि 12:53 पर होगा और तो और खग्रास की समाप्ति 02:14 पर होगी। 03:21 मिनट पर संपूर्ण ग्रहण समाप्त हो जाएगा।

सूर्यग्रहण कहां दिखाई देगा –

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा। सूर्यग्रहण उत्तरी अमरीका के दक्षिणी भागों यानी कि ब्राजील, अर्जेंटीना, चिली, कोलंबिया, पेरु तथा प्रशांत महासागर के क्षेत्र में दिखाई देगा। यही नहीं, 16-17 जुलाई को खग्रास में चंद्रग्रहण होगा। वहीं 26 दिसंबर को सूर्यग्रहण होगा, जो भारत में देखा जा सकेगा। गौरतलब है कि अमावस्या के दिन ग्रहण होने के कारण इस दिन दान, जप-पाठ, मंत्र एवं स्तोत्र-पाठ और स्नान का महत्व बहुत ज्यादा ही बढ़ जाता है। यह ग्रहण कुछ राशियों के लिए विशेष फलदायी होने के संकेत मिल रहे हैं… और वह खास राशियां हैं – वृष, सिंह, कन्या, धनु और मीन

आज वेद संसार आपको बताने जा रहा है कि सूर्यग्रहण काल के दौरान भूलकर भी कौन से 4 काम नहीं करना चाहिए या उन्हें करने से बचना चाहिए –

• सूर्यग्रहण काल के दौरान या उसके मध्य समय में भोजन करना, पकाना, सोना, सजना-संवरना बिल्कुल भी नहीं चाहिए।

• वहीं, अगर बात मान्यताओं की करें तो उसके अनुसार सूर्यग्रहण काल के समय किसी भी गर्भवती महिलाओं को गलती से भी सब्जी नहीं काटने चाहिए और ना ही कोई कपड़ा सीना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से कहते हैं कि गर्भ में पल रहे बच्चे को शारीरिक दोष हो सकता है।

• कोशिश यही करें कि ग्रहण के दौरान घर से बाहर ना निकलें और तो और ग्रहण दर्शन तो भूलकर भी ना करें क्योंकि यह आपको शुभ फल प्रदान नहीं करेंगे बल्कि अशुभ होगा ऐसे उनके दर्शन करना।

• ध्यान रहें कि ग्रहण खत्म होने के बाद सभी गर्भवती महिलाओं को ज़रूर से नहा लेना चाहिए वरना उसके शिशु को त्वचा संबधी कई रोग हो सकते हैं जो बच्चे के लिए कष्टदायक भी साबित हो सकते हैं। सूर्यग्रहण के नकारात्मक प्रभाव से बचने के लिए गर्भवती महिला को तुलसी का पत्ता जीभ पर रखकर हनुमान चालीसा और दुर्गा स्तुति का पाठ ज़रूर से करना चाहिए।

हम आशा करते हैं कि सूर्यग्रहण के बुरे प्रभाव से बचने के लिए वेद संसार द्वारा बताए गए इन खास 4 उपायों को आप ज़रूर याद रखेंगे और फॉलो भी करेंगे… साथ ही अपने दोस्तों व परिवार के अन्य सदस्यों से भी अवश्य शेयर करेंगे।

Leave a Comment