ईवेंट हिन्दू पर्व

2020 में कब है सूर्य ग्रहण, जानें कैसे लगता है सूर्य ग्रहण?

नया साल 2020 आने में अब बस कुछ ही दिन रह गए हैं और ऐसे में आपके मन में कई सवाल आने शुरू हो गए होंगे कि आखिर साल 2020 में कब है सूर्य ग्रहण? साल 2020 में कितने सूर्य ग्रहण होंगे? सूर्य ग्रहण 2020 का सूतक काल क्या रहेगा…आज वेद संसार आपको बताने जा रहा है सूर्य ग्रहण 2020 से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारियां-

साल 2020 का पहला सूर्य ग्रहण कब लगेगा –

वर्ष 2020 में दो बार सूर्य ग्रहण लगने वाले हैं। बता दें कि 2020 में पहला सूर्य ग्रहण 21 जून को लगेगा और 2020 का पहला सूर्य ग्रहण वलयकार होगा। यही नहीं, यह सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई देगा इसलिए यहाँ पर इसका सूतक काल ही मान्य होगा।

साल 2020 में दूसरा सूर्य ग्रहण कब लगेगा –

वर्ष 2020 में दूसरा सूर्य ग्रहण 14 दिसंबर को लगेगा और यह पूर्ण सूर्य ग्रहण होगा, लेकिन भारत में यह नहीं दिखाई देगा और इसलिए यहां पर सूतक काल मान्य नहीं होगा।

ग्रहण का सूतक काल

आपने यह ज़रूर सुना होगा कि ग्रहण के दौरान कोई भी शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि उस समय ग्रहण का सूतक काल प्रभावी होता है, जो एक प्रकार से अशुभ समय होता है। यह ग्रहण से 12 घंटे पूर्व ही लग जाता है और ग्रहण समाप्त के साथ ही समाप्त होता है।

सूर्य ग्रहण कैसे लगता है?

सूर्य ग्रहण एक खगोलीय घटना है। सरल शब्दों में कहा जाए तो इस घटना के तहत जब चंद्रमा सूर्य और पृथ्वी के मध्य में आ जाता है जिससे सूर्य की किरणें पृथ्वी तक नहीं पहुँच पाती हैं। इस घटना को ही सूर्य ग्रहण भी कहा जाता है।

सूर्य ग्रहण से जुड़ी यह 5 महत्वपूर्ण बातें –

(1) यह बहुत कम लोग जानते हैं कि जब सूर्य और पृथ्वी के बीच में चंद्रमा आ जाता है, तो सूर्य की चमकती सतह चंद्रमा के कारण दिखाई नहीं पड़ती है।
(2) वहीं, चंद्रमा की वजह से जब सूर्य ढकने लगता है तो इस स्थिति को ही सूर्यग्रहण कहा जाता हैं।
(3) और तो और जब सूर्य का एक भाग छिप जाता है तो उसे आंशिक सूर्यग्रहण कहा जाता हैं।
(4) इसी के साथ जब सूर्य कुछ देर के लिए पूरी तरह से चंद्रमा के पीछे जाकर छिप जाता है तो उसे पूर्ण सूर्यग्रहण कहते हैं।
(5) बताते चलें कि पूर्ण सूर्य ग्रहण हमेशा अमावस्या को ही होता है।

Leave a Comment