ईवेंट हिन्दू पर्व

महापर्व छठ के खास 4 दिन में जानें क्या-क्या होता है

छठ का महान पर्व हर साल कार्तिक मास में शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि को पूरे श्रद्धा के साथ व साथ ही धूमधाम से पूरे देश व विदेश में मनाया जाता है। इस साल यानी कि 2020 में छठ पर्व की पूजा 20 नवंबर को है। यह खास पर्व बिहार और पूर्वी यूपी में विशेष तौर से मनाया जाता है।

ऐसी मान्यता है कि यह पवित्र व्रत लोग अपने संतान के सुखी जीवन की कामना के लिए करते हैं। छठ पर्व एक नहीं पूरे चार दिनों का पर्व होता है… षष्ठी तिथि से ठीक दो दिन पहले यानि कि चतुर्थी से नहाय-खाय से आरंभ हो जाती है और इसका समापन सप्तमी तिथि को पारण करके ही किया जाता है। इस पर्व में सूर्य देव को अर्घ्य देने की परंपरा है जो सबसे ज्यादा महत्व माना गया है।

आज वेद संसार आपको विस्तार से बताने जा रहा है कि छठ पर्व तो चलिए जानते हैं छठ पूजा की तिथियां, अर्घ्य का समय और पारण समय क्या है।

प्रथम दिन चतुर्थी तिथि नहाय-खाय –

छठ पूजा की शुरुआत कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि से हो जाती है और पहले दिन नहाय-खाय की परंपरा होती है। साल 2020 में नहाय-खाय 18 नवंबर को मनाया जाएगा।

18 नवंबर को सूर्योदय – सुबह 6 बजकर 46 मिनट पर
18 नवंबर को सूर्यास्त – शाम को 5 बजकर 26 मिनट पर

अब दूसरे दिन पंचमी तिथि लोहंडा एवं खरना का दिन होता है –

लोहंडा और खरना की तिथि – 19 नवंबर, 2020

बता दें कि यह कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की पंचमी का दिन होता है।

19 नवंबर को सूर्योदय – सुबह 6 बजकर 47 मिनट पर
19 नवंबर को सूर्यास्त – शाम को 5 बजकर 26 मिनट पर होगा

छठ पूजा का मुख्य दिन –

कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि की शाम के समय सूर्य को अर्घ्य देते हैं और इस साल 2020 में छठ पूजा का शाम का अर्घ्य 20 नवंबर को है।

षष्ठी तिथि की शुरुआत – 19 नवंबर की रात 9 बजकर 59 मिनट से
षष्ठी तिथि का समापन – 20 नवंबर की रात 9 बजकर 29 मिनट तक
20 नवंबर को सूर्योदय – सुबह 6 बजकर 48 मिनट पर
20 नवंबर को सूर्यास्त – शाम 5 बजकर 26 मिनट पर

छठ पूजा का पारण व सुबह का अर्घ्य –

बताते चलें कि कार्तिक मास में शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को छठ पूजा के व्रत का समापन करने की परंपरा है। इस शुभ दिन सूर्योदय के समय लोग अर्घ्य देने के पश्चात अपने छठ के व्रत का पारण करते हैं। इस साल 2020 में 21 नवंबर को छठ के व्रत का पारण होगा

21 नवंबर को सूर्योदय – सुबह 6 बजकर 49 मिनट पर
21 नवंबर को सूर्यास्त – शाम 5 बजकर 25 मिनट पर

दोस्तों, हम आशा करते हैं कि छठी मईया आपकी हर मनोकामना को पूरा करें और आप एक खुशहाल जीवन का आनंद उठाए।

वेद संसार की पूरी टीम की ओर से आप सभी को छठ पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं!

Leave a Comment