ईवेंट राशिफल

चंद्र ग्रहण 2020 – राशि अनुसार जानें क्या करें और क्या नहीं!

चंद्र ग्रहण 2020 में राशि के अनुसार जानें क्या करें और क्या नहीं

5 जून, 2020 को चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है… कहा तो यह जा रहा है कि यह उपच्छाया ग्रहण होगा जो भारत में दिखाई नहीं देगा और इसका सूतक भी मान्य नहीं होगा। वहीं, यह चंद्र ग्रहण 5 जून, 2020 को रात 11 बजकर 15 मिनट पर लगेगा जो 6 जून की सुबह 2 बजकर 34 मिनट पर जाकर खत्म हो जाएगा। ज्योतिष शास्त्र की मानें तो ग्रहण का प्रभाव हर राशि पर पड़ता है।

आज वेद संसार आपको बताने जा रहा है कि इस चंद्र ग्रहण का सभी 12 राशियों पर आखिर क्या असर पड़ेगा –

• मेष: 

चंद्र ग्रहण के दौरान परिवार के सदस्यों की सेहत पर ज़रूर ध्यान देना चाहिए। इस ग्रहण के दौरान आपके मन में कई तरह के तनाव भी आ सकते हैं।

क्या ना करें – किसी भी तरह के वाद-विवाद से आप खुद को कोसो दूर ही रखें।

क्या करें – ग्रहण काल में मंत्र का जाप कर अपने राशि के स्वामी मंगल को प्रबल करें और याद से ग्रहण काल खत्म हो जाने के बाद किसी भी गरीब व्यक्ति को गुड़ और चावल का दान करें।

• वृषभ:

चंद्र ग्रहण का असर आपके रिश्तों पर पड़ेगा और यह भी हो सकता है कि आपका कोई संबंध अचानक से खत्म हो जाए।

क्या ना करें – किसी भी तरह के तनाव से खुद को बचाएं और सकारात्मक सोच रखें।

क्या करें – अपना और अपनी पत्नी दोनों की सेहत का विशेष ध्यान रखें। ग्रहणकाल के बाद किसी गरीब व्यक्ति को दूध का दान अवश्य से करें।

• मिथुन: 

चंद्र ग्रहण के दौरान आप किसी महिला के आरोप से बचकर रहे तो अच्छा होगा।

क्या ना करें – महिलाओं से अनबन करने से बचें क्योंकि मामला कोर्ट कचहरी तक भी पहुंच सकता है।

क्या करें – इस राशि की महिलाओं को अपनी सेहत पर विशेष ध्यान रखने की जरूरत है। बुध के मंत्रों का जाप ज़रूर करें और ग्रहणकाल खत्म होने पर किसी निर्धन को मीठी खीर दान में दें।

• कर्क:

देखा जाए तो चंद्र ग्रहण लगने पर कर्क राशि वालों पर इसका सीधा प्रभाव पड़ता है, क्योंकि इस राशि के स्वामी चंद्रमा जो हैं। यह चंद्र ग्रहण आपके लिए थोड़ी परेशानी अवश्य ला सकता है और इसलिए रिश्ते, शिक्षा और संतान इन तीनों तरफ आपको सावधान रहने की बहुत जरूरत है।

क्या ना करें – रिश्तों में गलतफहमी लाने से बचें।

क्या करें – आपके लिए इंद्र गायत्री मंत्र बहुत लाभकारी रहेगा। इस ग्रहण के 15 दिन के आस-पास अपनी माता को चांदी का ग्लास ज़रूर दें।

• सिंह: 

चंद्र ग्रहणकाल के दौरान आपकी माता को तनाव हो सकता है इसलिए उनकी सेहत पर ध्यान दें। साथ ही घर से जुड़ी कोई समस्या आपको घेरे में ले सकती है।

क्या ना करें – अपनी माता के साथ किसी भी तरह के वाद-विवाद करने से बचें।

क्या करें – ग्रहणकाल में सूर्य और चंद्रमा के मंत्रों का जाप करें और ग्रहण के बाद गुड़ और चीनी दोनों का दान सच्चे मन से करें।

• कन्या: 

चंद्र ग्रहण के दौरान आत्मविश्वास में कमी आएगी और साथ ही आपकी किसी के साथ दोस्ती खत्म हो सकती है। भाई-बहनों के साथ भी आपका संबंध बिगड़ सकता हैं।

क्या ना करें – घर में बड़े और छोटे दोनों के सेहत को नज़रअंदाज़ ना करें।

क्या करें – ग्रहणकाल में बुध के मंत्रों का जाप अवश्य करें। ग्रहण खत्म होने के बाद किसी गरीब व्यक्ति को हरी सब्जी का दान भी करें।

• तुला: चंद्र ग्रहण के इस ग्रहणकाल के दौरान आपको अपनी वाणी पर बहुत ध्यान देने की ज़रूरत है, क्योंकि इससे आपके कार्यक्षेत्र में भारी परेशानी आ सकती है।

क्या ना करें – बिना सोचे-समझे ना बोलें क्योंकि इससे तनाव भी बढ़ सकता है।

क्या करें – ग्रहणकाल में शुक्र के मंत्रों का जाप याद से करें और ग्रहणकाल खत्म हो जाने के बाद किसी निर्धन व्यक्ति को घी का दान करें।

• वृश्चिक: 

चंद्र ग्रहण आपकी ही राशि में पड़ रहा है, जिसकी वजह से आपको मानसिक तनाव हो सकता है।

क्या ना करें – पूजा-पाठ को हल्के में ना लें, क्योंकि इसकी मदद से आपकी स्थिति इतनी खराब नहीं होगी जितनी आपको महसूस होगी।

क्या करें – जब मन विचलित हो तो इंद्र गायत्री मंत्र का जाप कर लें। यही नहीं, ग्रहणकाल खत्म होने के बाद एक तांबे के लोटे में दूध भरकर शिव मंदिर जाकर उसे रख आएं।

• धनु: 

इस चंद्र ग्रहण के दौरान आपके निर्णय लेने की क्षमता बहुत खराब हो सकती है।

क्या ना करें – किसी भी तरह का नकारात्मक विचार ना लाएं।

क्या करें – आपको बृहस्पति मंत्र का जाप करने की जरूरत है व साथ ही किसी निर्धन व्यक्ति को एक पैकेट हल्दी का दान करें।

• मकर: 

आपके धन लाभ में कमी हो सकती है और साथ ही कहीं से आपका पैसा आना होगा तो वह अचानक से रुक जाएगा।

क्या ना करें – अपने जीवनसाथी से तकरार ना करें।

क्या करें – शनि के मंत्रों का जाप करें। वहीं, इस ग्रहण के खत्म होने पर एक पैकेट दूध और सरसों का तेल गरीब व्यक्ति को दान कर दें।

• कुंभ: 

पिता के सेहत को लेकर आपका सावधान रहना बहुत ज़रूरी है।

क्या ना करें – अपने शत्रु से कोसो दूर रहें औऱ खासकर के महिला से क्योंकि वह आप पर आरोप लगा सकती है और आपकी परेशानी बढ़ सकती है।

क्या करें – अपनी सेहत पर खास ध्यान दें। शनि के मंत्रों का जाप तो करे ही, वह ग्रहणकाल खत्म होने के बाद सरसों के तेल या पांच सफेद मिठाई का दान भी कर दें।

• मीन: 

इस राशि के लोग धर्म को लेकर किसी बात पर संदेह कर सकते हैं। आपको वाहन और यात्राओं से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

क्या ना करें – शिक्षा को अहमियत देना ना भूलें और साथ ही अपने संबंधों में गलतफहमी भी ना आने दें।

क्या करें – ग्रहणकाल के दौरान बृहस्पति मंत्र का जाप करें व साथ ही ग्रहणकाल के बाद चने की दाल का दान करना ना भूलें।

Leave a Comment