ईवेंट ज्योतिष

होली 2019: अपने अंकों से जानें क्या है आपका लकी रंग

अपने अंकों से जानें क्या है आपका लकी रंग

होली का त्योहार आनंद और उल्लास से भरपूर एक ऐसा महापर्व माना जाता है जिस दिन सभी लोग अपने-अपने गिले शिकवे को भूलकर एक रंग में रंग जाते हैं। हरे, पीले, लाल, गुलाबी सहित कई रंग आपस की दूरियों को मिटा देते हैं। हमारे जीवन से जुड़े इन रंगों का भी काफी महत्व है और यह हर व्यक्ति पर अपना सकारात्मक और नकारात्मक दोनों पर प्रभाव छोड़ जाते हैं।

क्या आप जानते हैं कि होली पर रंगों का इस्तेमाल सिर्फ होली खेलने के लिए ही नहीं किया जाता है, बल्कि इसका अपना धार्मिक और वैज्ञानिक महत्व भी होता है। और ऐसे में हर किसी को यह बात जानने की चाह रहती है कि उनके लिए होली का लकी कलर क्या होगा…  ताकि उसका जीवन खुशियों के रंग से भर जाए।

आज वेद संसार आपको बताने जा रहा है कि अंक शास्त्र की मदद से आप कैसे जान सकते हैं कि कौन सा रंग होली में आपके जीवन में आशा और खुशियां लाएगा – 

• अंक – 1 (जन्मतिथि – 1, 10, 19, 28)

अगर आपकी जन्मतिथि 1, 10, 19 या फिर 28 है, तो जान लें कि आपका अंक 1 है, जिसका कारक सूर्य होता है…  जो आत्मा का कारक है और जीवन में ऊर्जा भी प्रदान करता है। एक अंक वालों के लिए होली खेलने का शुभ रंग है लाल। यह लाल रंग आपके ऊर्जा, स्वास्थ्य, उत्साह और महत्वकांक्षा को दर्शाता है। यह रक्तचाप संबंधी रोगों के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। इस साल आप अगर लाल गुलाल से होली खेलते हैं, तो आपके जीवन में आत्मविश्वास की वृद्धि होगी व साथ ही सेहत और ऊर्जा का विकास होगा। यही नहीं, इस रंग का प्रयोग करने वाले का पिता से प्रेम बढ़ता है… दूरियां कम होती हैं, आलस्य और सुस्ती भी कम होकर सक्रियता आती है।

• अंक – 2 (जन्मतिथि – 2, 11, 20, 29)

वहीं, अंक 2 वालों का कारक ग्रह चन्द्रमा है, जो मन का प्रतीक माना जाता है। ऐसे लोगों में भावना पक्ष काफी प्रबल होता है। आपके लिए भाग्यशाली रंग सफेद होगा। सफेद रंग शीतलता, प्रसन्नता और सकारात्मकता का भी प्रतीक है। यह आपके मानसिक तनाव को कम कर जीवन में खुशियां लाएगा। इस वर्ष हरे रंग से होली अगर आप खेलते हैं, तो आपके जीवन में समृद्धि, प्रेम, ममता की वृद्धि होगी। व साथ ही सकारात्मक सोच रखने के कारण आपके उन्नति के रास्ते खुल जाएंगें।

• अंक – 3 (जन्मतिथि – 3, 12, 21, 30)

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि पीला रंग गुरू या बृहस्पति ग्रह से जुड़ा हुआ होता है। यह रंग धन वृद्धि, अध्यात्म, बुद्धि, विद्या और सात्विकता से जुड़ा माना जाता है। गुरू ग्रह सन्तान, पुत्र, धन वृद्धि का कारक ग्रह माना गया है। होली के शुभ दिन पीले रंग के उपयोग से आपके जीवन में संतुलन आएगी… धन की वृद्धि होगी और  सम़ृद्धि भी आएगी। साथ ही साथ बच्चों के लिए यह रंग बहुत शुभ है। अगर इस रंग से तिलक करते हैं, तो मणिपुर चक्र संतुलित हो जाएगा।

• अंक – 4 (जन्मतिथि – 4, 13, 22, 31)

अब बात अंक 4 वालों की… इनका जातक चंचल प्रकृति का होता हैं। इनके जीवन में उतार-चढ़ाव आते ही रहते हैं। इन्हें जीवन में मेहनत ज्यादा करनी पड़ती है, जिसके कारण यह अक्सर उत्तेजित या नकारात्मक हो जाया करते हैं। इस मूलांक वालों के लिए शुभ रंग नीला माना गया है। यह विस्तार, धैर्य का रंग होता है। इस रंग से होली खेलने से आपकी इन्द्रियां अधीन रहेंगी और जीवन में शांति आएगी। नीला रंग आपके कार्यक्षेत्र में विस्तार लाएगा और अगर आप इस रंग को माथे पर लगाते हैं, तो आज्ञा चक्र संतुलित होगा और बुद्धि का विकास होगा।।

• अंक – 5 (जन्मतिथि – 5, 14, 23) 

अंक पांच का ग्रह बुध माना जाता है। अंक 5 वाले जातक समझदार, रसिक मिजाज और कुशल वक्ता के होते हैं। इस अंक वाले लोगों का लकी रंग हरा है। यह रंग संतुलन, आशा और आपसी सामंजस्य का प्रतीक भी है। गर्भवती महिला और विद्यार्थियों के लिए भी यह रंग बहुत अच्छा माना जाता है। होली में इस रंग का प्रयोग रिश्तों की खटास को दूर कर आपसी तालमेल पैदा करने में मदद करती है और परिवार में शांति लाती है।

• अंक – 6 (जन्मतिथि – 6, 15, 24) 

दूसरी ओर अंक 6 वालों के लिए शुक्र चमक—दमक प्रेम का ग्रह माना जाता है। आपके लिए सफेद और गुलाबी रंग बहुत होगा। जहां सफेद रंग जीवन में सादगी लाएगी, तो वहीं गुलाबी रंग प्रेम को बढ़ाएगी। याद रखें कि इन रंगों से होली पर परिवार में प्रेम और शांति बनी रहेगी और उलझनें कम होंगी। पति-पत्नी में आपसी सामंजस्य रहता है और प्रेम की वृद्धि भी होती है। युवक-युवतियों को गुलाबी रंग से होली ज़रूर खेलनी चाहिए, जिससे उनके रिश्तों में कोमलता एवं स्नेह हमेशा बना रहे।

• अंक – 7 (जन्मतिथि — 7, 16, 25) 

अंक 7 वालों के जीवन में उतार-चढ़ाव तो आते रहते हैं, लेकिन आप जिस कार्य में हाथ डालते हैं, उसे पूरा ज़रूर करते हैं। आपको अगर होली खेलनी है तो नारंगी रंग से ज़रूर खेलें, क्योंकि यह आपके लिए सबसे उत्तम होगा। यह खास रंग बौद्धिक विकास को दर्शाता है और यह रंग पीले और लाल रंग को मिला कर ही बनता है। हालांकि इसमें दोनों के गुण समा जाते हैं… और तो और नारंगी रंग के प्रयोग से लोगों की मदद मिल सकती है। इस रंग के प्रयोग से दोस्तों के साथ चल रही समस्याओं का भी हल होगा व जीवन में सरसता आयेगी।

• अंक – 8 (जन्मतिथि — 8, 17, 26)

शनि ग्रह को आठ अंक का अधिपति ग्रह माना गया है। शनि ग्रह पवित्रता, न्याय एवं वफादारी का भी प्रतीक है। अंक 8 वालों के लिए नीला रंग सबसे शुभ है। यह आपके लिए शांति, विस्तार और विशालता का प्रतीक है। यह शक्ति को जागरूक बनाता है। बता दें कि होली में नीले रंग के प्रयोग घर में समृद्धि आती है और जीवन में विकास होता है। सांस संबंधी रोगों और दंत विकार के लिये यह रंग काफी फायदेमंद साबित होता है।

• अंक — 9 (जन्मतिथि – 9, 18, 27)

अंक नौ की बात करें, तो इनका अधिपति ग्रह है मंगल। यह ग्रह उत्तेजना, ऊर्जा और पराक्रम का प्रतीक है। लाल रंग अपका शुभ रंग होगा और इस रंग का अपना ही महत्व है। यह देवी का रंग भी माना जाता है। यह मानवीय चेतना का जोश और उल्लास का रंग भी है। होली में लाल रंग का प्रयोग आपको जोशीला बना देगा व आपके हृदय की क्षीणता को कम कर देगा।

Leave a Comment